कबीर नगर का सिलाई केन्द्र

Share this

स्रोत: Seva-Hindi      तारीख: 23 Mar 2013 17:10:39

कबीर नगर का सिलाई केन्द्रदिल्ली के यमुना विहार विभाग में कबीर नगर बस्ती का अपना महत्त्वपूर्ण स्थान है। 1984 में नवीन शहादरे की द्वारकापुरी के पास कुम्हार यहां आकर बसे थे। वहीं नजदीक ज्योति नगर है जो एक उच्च मध्यमवर्गीय लोगों की कॉलोनी बन गया है। ज्योति कॉलनी के पश्चिम में बाबरपुर वाली नहर के समीप बसे मुस्लिम घरों को गधापुरी नाम से जानते थे। धीरे-धीरे मुख्य सड़क से लगकर हिंदुओं ने अपने मकान बना लिए और इसके पीछे गलियों में मुस्लिम आबादी बढ़ती गई। इस बस्ती का नाम पड़ा कबीर नगर।

सेवा भारती ने ज्योति पब्लिक स्कूल में श्री अशोक शर्मा से सम्पर्क कर सिलाई केन्द्र आरंभ किया। इस केन्द्र में सीखनेवाली बहनों की संख्या 60 से 70 तक रहती है।

कबीर नगर के इस केन्द्र में घरेलू सिलाई की शिक्षा दी जाती है तथा नैशनल ओपन स्कूल का डिप्लोमा कोर्स भी यहां उपलब्ध है। सेवा भारती का भी अलग डिप्लोमा है। इस प्रशिक्षण के अतिरिक्त "मेंहदी के डिज़ाइन" का भी प्रशिक्षण दिया जाता है।

कबीर नगर केन्द्र में भजन मंडली भी है तथा यज्ञ हवन का भी नियमित आयोजन होता है। इन दोनों कार्यक्रमों में भाग लेनेवाली महिलाएं सेवा भारती के अन्य कार्यों में सक्रियता से सहभागी होतीं हैं। सभी महिलाएं एक ही परिवार की सदस्यों की तरह एक-दूसरे का ध्यान रखती हैं।

सम्पर्क

सेवा भारती
13, भाई वीर सिंह मार्ग, 
गोल मार्किट,
नई दिल्ली - 110001

दूरभाष : (011) 23345014, 23742336
फैक्स : (011) 23345918

... ... ...